Bitcoin in Hindi
Bitcoin क्या हैं ?

बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा यानि वर्चुअल करेंसी (Virtual Currency) है, आप केवल ऑनलाइन खरीददारी (Online Shopping) और लेनदेन के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे माइनिंग (Mining) द्वारा कमाया जाता है और इसे स्टोर करने के लिये बिटकॉइन वॉलेट (Bitcoin Wallet) की आवश्यकता होती है, इसे सातोशी नाकामोतो (Satoshi Nakamoto) ने बनाया था। आज 1 Bitcoin लगभग 427 अमेरिकी डॉलर (US Dollar) यानि लगभग 28000 भारतीय रुपया(Indian Rupee) के बराबर है। आपको जानकार आश्चर्य होगा कि वर्ष 2014 में 1 Bitcoin की कीमत 1000 अमेरिकी डॉलर से भी ऊपर चली गयी थी। बिटकॉइन के भुगतान के लिए क्रिप्टोग्राफी का इस्तेमाल किया जाता है।

Bitcoin की शुरूआत कहॉ से और कैसी हूई ?

Bitcoin की शुरुआत Satoshi Nakamoto ने की 2009 में की थी. ये एक तरह की crypto currency (क्रिप्टो-करेंसी है) जिसका अर्थ है एक ऐसी मुद्रा जिसकी इकाई के उत्पादन के नियंत्रण में encryption (कूटलेखन) का इस्तेमाल किया जाता है| Bitcoin के व्यापार में एक बेहेतरीन उछाल वर्ष 2013 में आया था जब इसकी एक इकाई की क़ीमत 22USD से बढकर 266USD हो गयी थी. उस समय Bitcoins का विश्व बाज़ार मूल्य २ अरब हो गया था|यहाँ एक बात विचारणीय है कि Bitcoin (बड़े अक्षरों में लिखा B) विश्व बाज़ार को संधर्भित करता है वहीँ  bitcoin (छोटे अक्षरों में लिखा B) असल या वास्तविक मुद्रा को प्रदर्शित करता है.

 

Bitcoin System –

क्योंकि Bitcoin को हम Electronically store  करके ही रख सकते हैं इसीलिए Bitcoin को रखने के लिए एक wallet की आवश्यकता होती है जिसे Bitcoin wallet कहा जाता है । Bitcoin wallet को मोबाइल या कंप्यूटर से install करना होता है, यह Wallet एक प्रकार का मुफ्त Software है। यह Wallet तीन प्रकार का होता है। Software wallet, mobile wallet, web wallet. जिसमें Software wallet कंप्यूटर पर install किया जाता है, Mobile wallet मोबाइल पर और Web wallet उस कंपनी की वेबसाइट पर install रहता है जो Bitcoin की सुविधाएं प्रदान करती है ।Wallet install करने पर एक unique code मिलता है, जब आप कहीं से Bitcoin खरीदते हैं तो या कमाते हैं तो उस वक्त इस code की आवश्यकता होती है, इस code के माध्यम से ही Bitcoin को आप अपनी wallet में रखने में समर्थ हो पाते हैं।

Bitcoin काम कैसे करता है ?

अगर जब हम Physical Currency (भौतिक मुद्रा) का इस्तेमाल करते हैं तो हम बैंक के payment process को follow करते हैं, तभी जाकर हम Currency का लेन-देन कर पाते हैं, किस व्यक्ति के account में कितने पैसे कहां भेजे सभी का statement हमारे या जिसको Transaction किया गया है उसके account में available रहता है। उसी तरह Bitcoin के साथ किए गए Transaction का हिसाब एक account में रिकॉर्ड रहता है जिसे Bitcoin block-chain कहा जाता है।Bitcoin की कीमत प्रत्येक देश में अलग-अलग होती है। आज की Date में 1 Bitcoin की कीमत Indian rupee के हिसाब से ११००००० रुपए है। आज Bitcoin का चलन विश्व बाजार में बहुत तेजी से हो रहा है, यह बहुत तेजी के साथ बदलने वाली मुद्रा है, जिसकी value में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है।

सबसे पहले इसका उपयोग करने के लिए उपभोक्ता को अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर एक डिजिटल वॉलेट Install करना पड़ता है. ये वॉलेट एक तरह का मुफ्त software है जो आपका Bitcoin खाता बनता है. ये वॉलेट तीन प्रकार के होते हैं – software वॉलेट (ये कंप्यूटर पर इनस्टॉल होता है), mobile वॉलेट (जोकि मोबाइल पर install किया जा सकता है) और आखिर में Web wallet (ये उस कंपनी की वेबसाइट पर Installed रहेगा जो bitcoins की सुविधाएं प्रदान करती है).

इस वॉलेट को install करने पर हर उपभोक्ता को एक अनूठा क्रिप्टोग्राफ़िक कोड मिलता है. हर खाते का अपना Bitcoins बैलेंस होता है. इनकी खरीद-फरोख्त कई प्रकार से होती है, Mt. Gox और Bitstamp नाम के एक्सचेंज हैं जहाँ से इन्हें ख़रीदा-बेचा जा सकता है. BitInstant भी एक विकल्प है, ये सेवा bitcoins और इसके एक्सचेंज के बीच हस्तांतरण की सेवा प्रदान करती है.

एक चीज़ जो यहाँ उल्लेखनीय है वो यह कि सारे संपादन इस वॉलेट पर सार्वजनिक तौर पर दिखाई देते हैं. विशेषज्ञ इसलिए सलाह देते हैं की उपभोक्ता हर संपादन के बाद एक नए खाते का निर्माण करें, ताकि सुरक्षा सुनिश्चित हो.

जैसे ही आपका bitcoins खाता बन जाता है, उपभोक्ता उसे ऑनलाइन संपादन के लिए उपयोग कर सकते हैं. वह कंपनियां जो bitcoins अदायगी स्वीकार करती हैं, उपभोक्ता को पता भेजती हैं जहाँ पर उपभोक्ता अपना ऑनलाइन संपादन कर सकते हैं. यहाँ संपादन तो मात्र कुछ क्षणों में हो जाता है लेकिन पुष्टि के लिए लगभग दस मिनट का समय लगता है.

सारे Bitcoin संपादन जहाँ सूचीबद्ध होते हैं, उसे “block chain” कहते हैं, जहाँ सार्वजनिक तौर पर सारे उपभोक्ता  एक दुसरे के खाते का बैलेंस देख सकते हैं, लेकिन खाते में प्रवेश नै कर सकते.

Bitcoin Wallet –

अगर हम इसे अपने घर या पॉकेट वॉलेट में नहीं रख सकते तो बिटकॉइन को कहा store कर सकते है l तो इसे Store करने के लिए आपको Bitcoin Wallet की जरुरत होती है l Internet में बहुत सारे Application . Software . और Cloud-Based Wallet है जिनमे आप Account बनाकर बिटकॉइन को स्टोर कर सकते है l

तो Bitcoin Wallet काम कैसे करता है ? तो सबसे पहली चीज वह आपको एक Uniq Address उपलब्ध कराता है l मान लीजिये आपने कही से Bitcoin Buy किया है तो आपको उसे मंगाने के लिए एक Address की जरुरत होगी l तो ऐसे में आप बिटकॉइन को अपने Wallet में मंगाकर स्टोर कर सकते है l जैसे आपने बिटकॉइन को बेचा है और उससे कुछ रूपए कमाए है तो उन रुपयों को Bank में Transfer करने के लिए आपको Bitcoin Wallet की जरुरत होगी l

Bitcoin का उपयोग –

बिटकॉइन खरीदने के बाद आप चाहे तो इन्हें पास रख सकते है या फिर इससे आगे कुछ खरीद भी सकते है,

अभी हाल में ही कुछ लोग इससे सट्टा समझ कर इस्तेमाल कर रहे है, क्योकि अभी तक बिटकॉइन के मूल्य कम नहीं हुए इसलिए लोग बिटकॉइन संभाल कर रख रहे है और यह सेवा अभी सरकार के हाथ में भी नहीं तो लोग सट्टे की तरह इस्तेमाल कर रहे है, आज आपके 1 बिटकॉइन की कीमत कल 1 लाख भी हो सकती है, और परसो कम भी, और आपको एक बात यह भी जानकार हैरानी होगी, की आपके खाते में कितने रुपए है,यह कोई भी दूसरा यूजर देख सकता है

लेकिन बिटकॉइन की सुरक्षा इतनी मजबूत है की अभी तक कोई इस सुरक्षा को तोड़ नहीं पाया है, मतलब आज तक बिटकॉइन कभी हैक नहीं हुई,

आज बिटकॉइन के लाख से ज्यादा इस्तेमाल करने वाले यूजर है, और हर महीने इसकी संख्या बढ़ती जा रही है, आज पूरे विश्व में बिटकॉइन चल रहा है, जिसमे अब तक 3 अरब से ज्यादा के बिटकॉइन रुपए है, हर देश में बिटकॉइन के एक कॉइन का मूल्य अलग अलग है,

बिटकॉइन के यूजर बढ़ते जा रहे है लेकिन अभी भी किसी को ये नहीं पता की बिटकॉइन किस तरह कण्ट्रोल होती है,

बिटकॉइन की कीमत कम भी हो जाती है इसलिए कुछ लोग ये भी कहते है की एक दिन ऐसा हो सकता है की बिटकॉइन की कीमत ही न रहे!

आप चाहे तो बिटकॉइन फ्री में भी कमा सकते है, ऐसी कुछ साइट्स है जिसपर गेम्स खेलने में या कुछ काम करने के बदले आपको बिटकॉइन फ्री मिल जाते है, और आप चाहे तो इन बिटकॉइन को वापिस अपने बैंक में रुपयो के तौर पर जमा कर सकते है, या फिर इंतज़ार कर सकते है सही वक्त आने का.

Bitcoin का मुख्य नुकसान –

इस मुद्रा के मूल्य को आंकना बहुत मुश्किल है क्यूंकि Bitcoin बहुत ही अस्थिर मुद्रा है और क्रिप्टो-करेंसी के निवेशकों के लिए यहाँ हानि की संभावनाएँ बेहद बढ़ जाती हैं.

चूँकि प्राथमिक तौर पर ये डिजिटल मुद्रा प्रणाली है और इसमें सट्टेबाजी और कर उल्लंघन लिप्त हैं, तो इसमें मुद्रा के नियंत्रण में धोखेबाज़ी की संभावनाएं रहती हैं.

[plinker]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here