Kya Aap Dusro Ki Man Ki Baat Janana Chahte Ho

0
25

​क्या आप दूसरों के मन की बातें जानना चाहते हैं? – Kya Aap Dusro Ki Man Ki Baat Janana Chahte Ho.

दूसरों के मन की बात जान लेना ही Magic कहलाता है। बहुत से लोग यह दावा करते हैं कि उन्होंने तंत्र-मंत्र, दिव्य शक्ति अथवा किसी चमत्कारी शक्ति के द्वारा इस दिव्य ज्ञान को प्राप्त कर लिया है। 

लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि Magic जैसी कोई भी शक्ति नहीं होती है, यह सिर्फ एक प्रकार का भ्रम है, जिसे दिखाकर लोग अक्सर दूसरों को बेवकूफ बनाते रहते हैं। ऐसी तमाम विधियाँ मौजूद हैं, जिनके द्वारा यह क्रिया सम्पन्न की जाती है। तो आइए आज आपको बताते हैं Magic की एक आसान और प्रभावी Trick । 

Magic के प्रदर्शन के लिए आप सबसे पहले कुछ दर्शकों को जमा करें, फिर उनमें से चार लोगों को अपने पास बुलाएँ। उन चारों व्यक्तियों में आप एक को किसी महान भारतीय वैज्ञानिक का नाम सोचने के लिए कहें। जब वह सोच ले तो उस की आँखों में आँखें डालकर ऐसे देखें जैसे आप उसके मन की बात पढ़ रहे हों। इसके बाद एक पर्ची पर वैज्ञानिक का नाम लिखकर पर्ची को गिलास में डाल दें। इसी तरह शेष तीनों दर्शकों से उनकी मनपसंद फिल्म, शहर और फल के बारे में सोचने के लिए कहें। उन चारों दर्शकों के आश्चर्य की कोई सीमा नहीं रहेगी जब आप उनके मन की बातें बिना बताये ही जान लेंगे। 

Magic कैसे करे –

यह कैसे संभव होगा? तो आइए बताते हैं आपको इसका तरीका। इस जादू को करने से पहले जो सावधानी बरतनी है वह यह कि जिन चार लोगों को आप बुलाएँ, उसमें से एक व्यक्ति आपका विश्वासपात्र होना चाहिए। अपने जादू को शुरू करने के पहले आप उसे बता दें कि भारतीय वैज्ञानिक का नाम श्रीनिवास रामानुसन ही बताना है। बस हो गयी जादू की तैयारी। लेकिन हाँ एक बात और। अपना जादू दिखाते समय आपको यह छोटी सी बात ध्यान रखनी है कि आपको अपने उस विश्वासपात्र व्यक्ति से सबसे बाद में पूछना है। 

अब शुरू करते है Magic Trick in Hindi – Dusro Ke Man Ki Baat Kaise Jane 

चारों व्यक्तियों को स्टेज पर बुलाने के बाद अपने विश्वासपात्र को छोड़ कर किसी अन्य व्यक्ति से अपनी मनपसंद फिल्म का नाम सोचने के लिए कहें। उस व्यक्ति को कुछ क्षण सोचने का अवसर दें और फिर उसकी आँखों में ध्यान से देखें, जैसे आप उसके मन की बात पढ़ने का प्रयत्न कर रहे हों। उसके बाद विजेता की तरह मुस्कराएँ, जैसे आपने उस व्यक्ति की मनचाही फिल्म को नाम जान लिया हो। अब आप एक पर्ची उठाएँ और उस फिल्म का नाम लिखने की बात कह कर श्रीनिवास रामानुजन लिखकर एक डब्बे में डाल दें। पर्ची को डालने के बाद आप उस व्यक्ति से अपनी फिल्म का नाम बताने को कहें। मान लेते हैं कि उसने शोले का नाम बताया। आप उसे धन्यवाद दें और फिर दूसरे व्यक्ति से सम्बोधित हों। 

दूसरे व्यक्ति से अपने मनचाहे फल के बारे में सोचने के लिए कहें। उसे कुछ समय देने के बाद आप उसकी आँखों में झाँकें और फिर एक पर्ची पर शोले लिखकर पर्ची को बिना दिखाए यह बताएँ कि आपने इस व्यक्ति के मनचाहे फल के बारे में पर्ची पर लिख दिया है। उसके बाद पर्ची को डब्बे में डाल दें और उस व्यक्ति से अपने मनचाहे फल का नाम बताने को कहें। अब मान लीजिए कि उसने फल का नाम आम बताया। उसके बाद आप उस व्यक्ति को धन्यवाद दें और तीसरे व्यक्ति के पास पहुँचें। 

तीसरे व्यक्ति से उसके पसंदीदा शहर के बारे में सोचने के लिए कहें और पूर्व की भांति अभिनय करते हुए पर्ची पर उसके पसंदीदा शहर के बारे में लिखने को कहकर आम लिखें और डब्बे में डाल दें। उसके बाद तीसरे व्यक्ति से पसंदीदा शहर का नाम बताने को कहें। मान लीजिए उसने दिल्ली का नाम लिया। नाम जानने के बाद आप उसका शुक्रिया अदा करें और अपने राजदार व्यक्ति के पास पहुँच जाएँ। 

चौथे व्यक्ति यानी अपने राजदार से आप किसी भारतीय वैज्ञानिक के बारे में सोचने के लिए कहें। जाहिर सी बात है कि वह श्रीनिवास रामानुजन के बारे में ही सोचेगा। जब आप उसकी आँखों में झाँक लें, तब आप चौथे व्यक्ति द्वारा सोचे जा रहे वैज्ञानिक का नाम लिखने की बात कहकर तीसरे व्यक्ति द्वारा बताए गए शहर दिल्ली का नाम लिखें और डब्बे में डाल दें। उसके बाद उस व्यक्ति से भी वैज्ञानिक का नाम बताने के लिए कह दें। 

बस हो गया आपका जादू पूरा। अब दर्शकों से किसी व्यक्ति को बुलाएँ और डब्बे में डाली गयी चारों पर्चियों को निकाल कर उनमें लिखे नाम पढ़ने को कहें। जब दर्शक वही नाम सुनेंगे, तो आपके जादू की प्रशंसा किये बिना नहीं रह पाएँगे। 

लेकिन रूकिए, अगर आप दर्शकों की प्रशंसा सुनकर फूलकर कुप्पा हो जाते हैं और धन्यवाद कहकर ही रह जाते हैं, तो यह चीटिंग है। आप दर्शकों के साफ-साफ बताइए कि आपने यह तथाकथित जादू कैसे सम्पन्न किया। क्योंकि सच तो यही है कि दुनिया में जादू नाम की कोई चीज होती ही नहीं। होती है तो सिर्फ हाथ की सफाई और समझ का धोखा।

दोस्तो एक और बात सूनकर आपको आश्चर्य होगा की क्या यह सच है वे  बात है Real Magic Trick की जिसे हम Magic नही मानसकते वे एक विज्ञान और योग का अनोखा चमत्कार है वह है टेलीपॅथी

जल्द ही हम टेलीपॅथी के बारे मे आपको जानकारी देंगे जिसे पढके आप सोचने लगोगे काश यह मै सिख जाऊ ।

तोह दोस्तो आपको मेरी यह वाली Magic Trick कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताना ।

You might also like

        »  डिजिटल भुगतान क्या हैं और कैसे करे ?
        »  Online पैसे कमाने के फाडू तरीके
        »  25+ Laghu Udyog – Small Business Ideas With Low Investment In Hindi
        »  ​20 रू की Note से Mobile Charge कैसे करें
        »  Bitcoin कैसे कमाया जा सकता है? | How Can Earn Bitcoin In Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here